February 2020

-Murder के बाद दंगाइयों ने शव को नाले में फेंका

-चांदबाग एरिया में मिली Ankit Sharma की लाश

-छुट्टियां बिताने के लिए अपने घर पर आए थे Ankit Sharma

IB OfficerAnkit Sharma (File Photo)

 Yogesh Tripathi


Delhi के North-East एरिया में तीन दिन पहले Start हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है। जगह-जगह तोड़फोड़, आगजनी, फायरिंग कर दंगाई दहशत फैला रहे हैं। इस बीच Delhi के भाजनपुरा स्थित चांदबाग इलाके से बड़ी खबर आ रही है। Intelligence Bureau (IB) के अफसर Ankit Sharma का शव पुलिस ने नाले से बरामद किया है। IB के Officer Ankit Sharma छुट्टियां बिताने के लिए घर आए थे। बताया जा रहा है कि दंगा फैलने पर वह अपने घर से बाहर निकले थे, लेकिन उसके बाद से उनका कुछ पता नहीं चल रहा था। 





गौरतलब है कि देश की राजधानी Delhi के North-East इलाके भजनपुरा, खजूरी, जाफराबाद, में मंडे को हिंसा भड़की थी। अब तक 20 लोगों की जान जा चुकी है। दर्जनों लोग अस्पतालों में जिंदगी के लिए मौत से जंग लड़ रहे हैं। दंगे में Delhi Police के एक हेड कांस्टेबल की भी मौत हो चुकी है। करोड़ों रुपए की संपत्तियां दंगाइयों ने आग के हवाले कर दी हैं। 



भजनपुरा इलाका इस हिंसा से काफी प्रभावित हुआ यहां मंगलवार को भी चांद बाग इलाके में हिंसक झड़प की तस्वीरें सामने आई थी। इसी बीच IB अधिकारी Ankit Sharma का शव मिलने से दहशत का माहौल है। बड़े सूत्रों के मुताबिक मुताबिक उनका शव चांद बाग के नाले से बरामद किया गया है। प्रारंभिक छानबीन में जो जानकारी आ रही है उसके मुताबिक Officer की ईंट-पत्थर से प्रहार कर हत्या की गई है। Murder की सही वजह पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मालुम हो सकेगी।

-प्रेसीडेंट पद पर बेहद रोचक मुकाबला होने की उम्मींद

-KBA के सेकेट्री पद पर हो सकती है सीधी टक्कर

 

Yogesh Tripathi

Kanpur Bar Association (KBA) चुनाव के तहत नामांकन प्रक्रिया के दूसरे दिन भारी गहमा-गहमी के बीच कुल 95 दावेदारों ने पर्चा भरा। पहले दिन 39 लोगों ने नामांकन कराया था। KBA का चुनाव लड़ रहे कई प्रत्याशियों के समर्थकों ने एक बार फिर चुनाव आचार संहिता की जमकर धज्जियां उड़ाईं। सेकेट्री पद पर प्रबल दावेदार राकेश तिवारी ने समर्थकों के हुजूम के साथ पर्चा भरा। 


प्रेसीडेंट के लिए बलजीत यादव ने भी नामांकन फॉर्म भरा। दोनों ही प्रत्याशी पिछले साल के रनर हैं। बाहरी समर्थकों की भीड़ अधिक होने की वजह से एक बार फिर कोर्ट के अधिवक्तागणों की संख्या नामांकन के दौरान काफी कम दिखी। प्रेक्टिस करने वाले अधिवक्ताओं में इस बात को लेकर खासा आक्रोश है कि बाहरी लोगों का दखल काफी बढ़ रहा है।


प्रेसीडेंट पद के लिए पहले दिन नरेश त्रिपाठी, गणेश शंकर दीक्षित जैसे दिग्गजों ने नामांकन करवाया था। सेकेट्री पद के लिए राकेश तिवारी और आदित्य सिंह ने दूसरे दिन पर्चा भरा। वरिष्ठ उपाध्यक्ष, उपाध्यक्ष, मंत्री, संयुक्त मंत्री (प्रकाशन) समेत कई पदों पर भी प्रत्याशियों ने नामांकन करवाए। KBA चुनाव के लिए मतगणना 3 मार्च 2020 को होगी। 



सूत्रों की मानें तो इस बार दो बड़े पदों के लिए चुनाव लड़ रहे दो प्रत्याशियों के समर्थन में Kanpur Court के कुछ वरिष्ठ अधिवक्ता खड़े हो गए हैं। जिसकी वजह से चुनावी मुकाबला बेहद दिलचस्प बन गया है। नामांकन प्रक्रिया के दौरान छात्रसंघ के पूर्व पदाधिकारी व तमाम वरिष्ठ अधिवक्ता मौजूद रहे। अधिवक्ता रेवंत मिश्रा, मनोज मिश्रा (गुड्डू), संतोष शुक्ला, चंद्रप्रकाश दुबे, नरेंद्र कुमार मिश्रा (बब्बी), संतोष तिवरी, आलोक सिंह (पूर्व अध्यक्ष वीएसएसडी कॉलेज) समेत कई अधिवक्ता अपने प्रत्याशियों के समर्थन में पूरे समय उपस्थित रहे। 





-नरेश त्रिपाठी, गणेश शंकर दीक्षित जैसे पुराने दिग्गजों ने भरा पर्चा

-संयुक्त मंत्री (प्रकाशन) के दो प्रत्याशियों के समर्थकों में मारपीट

-नामांकन के पहले दिन कुल 39 दावेदारों ने भरा नामांकन

 

Yogesh Tripathi

Kanpur Bar Association (KBA) चुनाव के तहत नामांकन प्रक्रिया के पहले दिन कई पुराने दिग्गजों ने भी पर्चा भरकर चुनावी समर में अपनी ताल ठोंक दी है। पहले दिन चुनाव कई पदों पर कुल 39 दावेदारों ने अपना पर्चा भरकर प्रत्याशिता की हुंकार भरी। इस दौरान प्रत्याशियों के समर्थकों ने चुनाव आचार संहिता की धज्जियां भी खूब उड़ाईं। संयुक्त मंत्री (प्रकाशन) के पद पर काफी गहमा-गहमी देखने को मिली। यहां दो दावेदारों के समर्थकों में झड़प के बाद मारपीट की भी खबरें आईं। पूरे मामले को एल्डर्स कमेटी ने संज्ञान में लिया है। एल्डर्स कमेटी का कहना है कि कड़ी कार्रवाई की जाएगी। 

मंगलवार की सुबह से ही कचहरी में गहमा-गहमी वाला माहौल देखने को मिला। एल्डर्स कमेटी के तमाम दिशा-निर्देशों के बाद भी प्रत्याशी और उनके समर्थक आचार संहिता को तार-तार करते हुए नजर आए। चुनावी समर में पुराने दिग्गज नरेश कुमार त्रिपाठी, गणेश शंकर दीक्षित उतरे हैं। 

नरेश त्रिपाठी, गणेश शंकर दीक्षित समेत चार लोगों ने प्रेसीडेंट पद पर नामांकन फॉर्म भरा। वरिष्ठ उपाध्यक्ष पद के लिए 6, उपाध्यक्ष के लिए 3 लोगों ने पर्चा भरा। सेकेट्री के पद पर पहले दिन 4 दावेदारों ने अपने प्रत्याशिता की ताल ठोंकी है। मंत्री पद के लिए सिर्फ एक प्रत्याशी ने नामांकन कराया। कोषाध्यक्ष पद के लिए 4 प्रत्याशियों ने नामांकन कराया। कनिष्ठ कार्यकारिणी सदस्य पद के लिए 5 प्रत्याशियों ने पर्चा भरा। 

संयुक्त मंत्री (प्रकाशन) के पद डमी कंडीडेट का नामांकन कराने को लेकर दो प्रत्याशियों के बीच झड़प के बाद लात-घूंसे भी चलने की खबर है। सूत्रों के मुताबिक विवाद की स्थित तब बनी जब एक प्रत्याशी के पिता जो कि सीनियर अधिवक्ता भी हैं उनके साथ बाहरी अराजकतत्वों ने अभद्रता कर दी। बताया जा रहा है कि माहौल के बिगड़ते ही मारपीट हुई। इस पूरे मामले को एल्डर्स कमेटी ने संज्ञान में लेते हुए कड़ी कार्रवाई की बात कही है। 

महामंत्री पद पर राकेश तिवारी समेत कई तगड़े दावेदार संभवतः बुधवार को नामांकन कराएंगे। मंगलवार को नामांकन प्रक्रिया के दौरान कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रही। इस दौरान प्रत्याशियों के समर्थक हो-हल्ला भी करते नजर आए। छात्रसंघ के पुराने दिग्गजों ने भी इस नामांकन प्रक्रिया में अपनी मौजूदगी दर्ज कराई।