फ़ॉलोअर

TRENDING NOW

 -कार्डियोलॉजी की इमरजेंसी में करीब चार दर्जन से अधिक मरीज भर्ती

-Sunday को 150 से अधिक मरीज सीने में दर्द और सांस फूलने की शिकायत लेकर पहुंचे

-चिकित्सकों ने दी बुजुर्गों और बच्चों को ठंड में बाहर न निकलने की सलाह 

 


Central Desk

गलन से Kanpur और आसपास के जिलों में ठंड का सितम काफी बढ़ गया है। जिसकी वजह से ह्दय रोगियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। पिछले 24 घंटों के दौरान तीन लोगों की Heart Attack से मौत हो गई। चार दर्जन से अधिक मरीजों को कार्डियोलॉजी में भर्ती कराया गया है। संडे को करीब 150 से अधिक मरीज सांस फूलने और सीने में दर्द की शिकायत लेकर कॉर्डियोलॉजी पहुंचे।

हैलट इमरजेंसी में ब्रेन अटैक के करीब आधा दर्जन रोगी भर्ती किए गए हैं। चिकित्सकों की कहना है कि ठंड की वजह से हृदय की धमनी और नसों में सिकुड़न आ जाती है। ब्लडप्रेशर भी बढ़ जाता है। जिसकी वजह से नसों में खून के थक्के तक जम जाते हैं। जिसके कारण हार्ट अटैक और ब्रेन अटैक का खतरा बना रहता है।

चिकित्सकों ने ह्दय रोगियों को ठंड में बचने की सलाह देते हुए कहा कि बाहर कम से कम निकलें। ब्लड प्रेशर की जांच अवश्य करवाएं। चिकित्सकों का कहना है कि जो मरीज कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। उको विशेष सावधानी बरतनी चाहिए।

 

 -श्रीराम शोभायात्रा एवं जागरूकता रैली में उमड़ा भक्तों का सैलाब

-अयोध्या में प्रस्तावित राममंदिर के लिए लोगों ने दिया दान

 


 Central Desk


राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के तत्वाधान में अयोध्या में प्रस्तावित भव्य राम मंदिर निर्माण को लेकर रविवार को South City स्थित नौबस्ता के पशुपति नगर शाखा की तरफ से श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास समिति से राष्ट्र निर्माण जागरूकता अभियान के तहत श्रीराम शोभायात्रा एवं  जागरूकता रैली आर.पी. विद्यालय से प्रातः 10:00 बजे Start की गई।

इस शोभायात्रा और जागरूकता रैली में पशुपति नगर क्षेत्रवासियों ने बड़ी संख्या में भाग लिया। इस रैली में महिलाओं और बच्चों ने भी बढ़ चढ़कर भागीदारी दिखाई। हर क्षेत्रवासी से निवेदन किया गया कि मंदिर निर्माण में बढ़-चढ़कर योगदान करें।

राम भक्तों की टोली ने लोगों से निवेदन किया कि सभी क्षेत्रवासी अपनी सामर्थ्य के अनुसार 10 रुपए से लेकर एक लाख रुपए तक स्वेच्छा से मंदिर निर्माण में योगदान करें। जिससे भगवान राम के भव्य राम मंदिर का निर्माण कार्य राष्ट्रहित में किया जा सके। इस यात्रा में प्रमुख रूप से कृष्ण कुमार मिश्रा प्रशांत दुबे ,अनिल तिवारी, कैलाश अवस्थी, गणेश शुक्ला ,बृजेश द्विवेदी सत्यम शुक्ला, महेंद्र सिंह आदि लोग मौजूद रहे।

-तीन बार MLA रह चुके हैं BJP (UP) के Vice President सलिल विश्नोई

-BJP ने विधान परिषद के लिए 6 और प्रत्याशियों के नाम का किया ऐलान

-बीजेपी ने कुल 10 प्रत्याशियों के नाम की अब तक घोषणा की

 


Yogesh Tripathi

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) परिवार से गहरा ताल्लुक रखने वाले Kanpur के Ex.MLA सलिल विश्नोई को Uttar Pradesh के विधान परिषद चुनाव के लिए हाईकमान ने प्रत्याशी बनाया है। सलिल विश्नोई वर्तमान में BJP (UP) के Vice President हैं। श्रीविश्नोई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बनारस लोकसभा संसदीय क्षेत्र के प्रभारी रह चुके हैं। 


BJP के राष्ट्रीय महासचिव तथा केंद्रीय कार्यालय प्रभारी Arun Singh ने शनिवार को 6 और प्रत्याशियों के नाम Final कर List जारी की।  इसमें Kanpur के कद्दावर नेता Salil Vishnoi का भी नाम है। BJP ने शनिवार को जो सूची जारी की है, उसमें प्रदेश महामंत्री गोविंद नारायण शुक्ला, कुंवर मानवेंद्र सिंह, सलिल विश्नोई, अश्वनी त्यागी, डॉ. धर्मवीर प्रजापति तथा सुरेंद्र चौधरी को प्रत्याशी बनाया है। गोविंद नारायण शुक्ल भाजपा के प्रदेश संगठन में कार्य कर रहे हैं और उनको सदन में भेजे जाने की लंबे समय से चर्चा की जा रही थी।

 


उल्लेखनीय है कि सलिल विश्नोई के पिता जी भी जनसंघ से जुड़े रहे थे। वह लंबे समय तक संघ के ताकतवर पदाधिकारी भी रहे। खुद सलिल विश्नोई की "प्राइमरी पाठशाला" भी RSS ही रही है। सलिल विश्नोई को बीजेपी ने पहली बार 2002 के विधान सभा चुनाव में जनरलगंज (वर्तमान में आर्यनगर) सीट से प्रत्याशी बनाया था। सलिल ने इसके बाद 2007 और 2012 का विधान सभा लगातार जीतकर हैट्रिक बनाई लेकिन 2017 के चुनाव में वह सिर्फ कुछ हजार वोटों से हार गए। हार के बाद भी BJP में उनका कद काफी प्रभावी रहा। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस के वह प्रभारी रहे। साथ ही साथ प्रदेश संगठन में भी उनको समायोजित कर दो बार महामंत्री बनाया गया। वर्तमान में वह बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष भी हैं। करीब दो दशक से भाजपा की राजनीति में सक्रिय सलिल विश्नोई एक बड़े व्यापारी नेता भी हैं। व्यापारी वर्ग में उनकी काफी तगड़ी पकड़ है। 

2022 के चुनाव में आर्यनगर सीट पर मचेगा घमासान

सलिल विश्नोई को विधान परिषद का प्रत्याशी बनाए जाने के बाद ये बात बिल्कुल साफ हो गई है कि 2022 में आर्यनगर सीट से विधायकी का चुनाव अब कोई और लड़ेगा। कौन लड़ेगा ? यह किसी को नहीं मालुम लेकिन दावेदारों की संख्या काफी लंबी होगी। जानकारों की मानें तो एक पूर्व विधायक समेत करीब दर्जन भर दावेदार सक्रिय होंगे। जिसमें कुछ "माननीय" के परिजन भी शामिल हैं। हालांकि एक बात ये भी सही है कि टिकट जिसे भी मिलेगी, उसमें स्वीकृति सलिल विश्नोई की अवश्य रहेगी। 

 


 


-सर्विलांस सेल की  मदद से Juhi Police ने झकरकटी बस अड्डे से पकड़ा 

-फ्राइ-डे की सुबह ससुराल में सिरफिरे ने "तांडव" माचकर लगाई थी आग 

-आग की लपटों में झुलस गए थे ससुराल के 7 सदस्य

-हरदोई के बिलग्राम थाना एरिया का रहने वाला है आरोपी

आरोपी मुकेश कुमार

Yogesh Tripathi 

बीवी से झगड़े के बाद ससुराल में पेट्रोल छिड़कर आग लगाने वाले आरोपी मुकेश को Kanpur की Juhi Police ने देर शाम Arrest कर लिया। Police के मुताबिक वह फरार होने के लिए सवारी का इंतजार कर रहा था। सर्विलांस सेल की मदद से पुलिस ने उसकी लोकेशन को ट्रेस कर दबोच लिया। 


 

Juhi के बीबी का हाता में शुक्रवार सुबह वारदात

बीबी का हाता निवासी हीरालाल पल्लेदारी करते हैं। करीब साढ़े तीन साल पहले हीरालाल ने अपनी बेटी मनीषा की शादी हरदोई के बिलग्राम निवासी ड्राइवर मुकेश कुमार के संग की थी। परिजनों के मुताबिक पिछले कई दिनों से मनीषा और मुकेश के बीच मनमुटाव चल रहा था, जिसकी वजह से मनीषा मायके आ गई थी। 


 

गुरुवार Night को दी थी मोबाइल पर धमकी

परिजनों के मुताबिक गुरुवार रात को मुकेश ने मोबाइल पर मनीषा से बातचीत की। उसने मायके से आने के लिए दबाव बनाया तो मनीषा ने मना कर दिया। जिस पर उसने गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी। शुक्रवार सुबह मुकेश ससुराल पहुंचा। मुकेश ने दरवाजा खटखटाया लेकिन ससुरालीजनों ने दरवाजा नहीं खोला।  इस पर मुकेश ने गाली-गलौज शुरु कर दी। बकौल हीरालाल थोड़ी देर बाद उसने पेट्रोल से भरी बोतल कमरे के अंदर फेंकी और जलता हुआ लाइटर अंदर फेंक दिया।


 

आग के पेट्रोल के संपर्क में आते ही अचानक आग का गोला उठा और परिवार के लोग लपटों की चपेट में आ गए। लपटों में घिरे हीरालाल और उसके परिजनों ने मदद की गुहार लगाई तो पड़ोसी पहुंचे। लोगों ने किसी तरह आग बुझाने के बाद झुलसे लोगों को बाहर निकाला। सूचान पर जूही थाने की फोर्स भी मौका-ए-वारदात पर पहुंची। झुलसे लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। आग से हीरालाल, उसकी पत्नी शिवकुमारी, बेटियां, मनीषा, राधा, वंदना, उमा और बेटा मनीष झुलस गए। सभी का अस्पताल में इलाज चल रहा है। 

-CJM Court की तरफ से जारी बी-वारंट में हकीकत सामने आई

-कूटरचित दस्तावेजों के जरिए पासपोर्ट बनवाने के मामले में हटीं जालसाजी की धाराएं 

-Bikru Case में बंद है विकास दुबे का खजांची Jai Bajpai

जय बाजपेयी

 

Yogesh Tripathi

Bikru Case में सलाखों के पीछे कैद गैंगस्टर Jai Bajpai पर से लगता है कि पुलिस की "कृपा" अब भी बरस रही है। कूटरचित दस्तावेजों के जरिए पासपोर्ट बनवाने के मामले में दर्ज FIR से संगीन धाराएं पुलिस ने हटा ली हैं। जो धाराएं हटाई गई हैं वह बेहद संगीन हैं। थाना पुलिस फिलहाल धारा हटाने की बात से साफ इनकार कर रही है लेकिन CMM Court की तरफ से जारी किए गए बी-वारंट कुछ और ही "कहानी" बयां कर रहा है। 

देश के मीडिया की सुर्खियां बटोर चुके Bikru Case के बाद सूबे के मुख्यमंत्री Yogi Adityanath ने मामले की जांच के लिए SIT का गठन किया था। SIT की संस्तुति पर Kanpur Nagar के नजीराबाद थाने में 21 नवंबर 2020 को पुलिस ने जय के खिलाफ कूटरचित दस्तावेजों का प्रयोग करके पासपोर्ट बनवाने की रिपोर्ट दर्ज की थी। 

CMM Court की तरफ से जारी बी-वारंट में IPC 467, 468 क्ष 471 की धाराएं "लापता" हैं। इसमें 467 धारा ऐसी है, जिसमें आजीवन कारावास तक की सजा का प्रावधान है। जानकारों की मानें तो इन धाराओं के हटने से जय बाजपेयी को जमानत मिलने में आसानी होगी। नजीराबाद थाना प्रभारी ज्ञान सिंह का कहना है कि धाराएं हटाने की जानकारी उनको नहीं है।  

    RTI Activist (सौरभ भदौरिया)

 

RTI Activist और अधिवक्ता सौरभ भदौरिया का कहना है कि SIT के आदेश पर मुकदमें तो पुलिस ने दर्ज कर लिए लेकिन अब गैंगस्टर एक्ट के साथ-साथ अन्य मामलों में बंद जय बाजपेयी पर पुलिस मेहरबानी कर रही है। पूरे प्रकरण को वह जल्द ही इलाहाबाद हाईकोर्ट के समक्ष रखेंगे। उल्लेखनीय है कि बिकरू कांड के बाद सौरभ भदौरिया ने जय बाजपेयी और विकास दुबे के खिलाफ तमाम साक्ष्यों का संकलन कर उसे SIT टीम को सौंपा था।

 


 -Kanpur के South City एरिया के जूही थाना क्षेत्र में दुस्साहसिक वारदात

-गुरुवार रात्रि को मोबाइल पर दी थी पत्नी को जान से मारने की धमकी

-पेट्रोल से भरी बोतल फेंकी तो पल भर में आग का गोला उठा

-चीख-पुकार सुनकर मोहल्ले के लोगों ने फंसे परिवार को बचाया

-झुलसे लोगों को पुलिस ने उपचार केलिए अस्पताल में भर्तीक कराया



Yogesh Tripathi


Kanpur के South City एरिया स्थित जूही थाना में फ्राइ-डे की अलसुबह बीवी से झगड़ा करने के बाद सिरफिरे युवक ने ससुरालीजनों पर Attack कर दिया। युवक ने पेट्रोल से भरी बोतल कमरे के अंदर फेंकने के बाद आग लगा दी। आग के गोला उठने पर ससुरालीजन लपटों में घिर गए। चीख-पुकार सुनकर मोहल्ले के लोग दौड़े और लपटों में फंसे लोगों को किसी तरह बचाकर बाहर निकाला। हमले में 7 लोग झुलस गए हैं। सभी को पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है। 


रोंगटे खड़ी कर देने वाली यह वारदात जूही थाना एरिया के रत्तूपुरवा मोहल्ले में हुई। बीबी का हाता निवासी हीरालाल पल्लेदारी करते हैं। करीब साढ़े तीन साल पहले हीरालाल ने अपनी बेटी मनीषा की शादी हरदोई के बिलग्राम निवासी ड्राइवर मुकेश कुमार के संग की थी। परिजनों के मुताबिक पिछले कई दिनों से मनीषा और मुकेश के बीच मनमुटाव चल रहा था, जिसकी वजह से मनीषा मायके आ गई थी। 


 

गुरुवार Night को दी थी मोबाइल पर धमकी

परिजनों के मुताबिक गुरुवार रात को मुकेश ने मोबाइल पर मनीषा से बातचीत की। उसने मायके से आने के लिए दबाव बनाया तो मनीषा ने मना कर दिया। जिस पर उसने गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी। शुक्रवार सुबह मुकेश ससुराल पहुंचा। मुकेश ने दरवाजा खटखटाया लेकिन ससुरालीजनों ने दरवाजा नहीं खोला।  इस पर मुकेश ने गाली-गलौज शुरु कर दी। बकौल हीरालाल थोड़ी देर बाद उसने पेट्रोल से भरी बोतल कमरे के अंदर फेंकी और जलता हुआ लाइटर अंदर फेंक दिया।


 

आग के पेट्रोल के संपर्क में आते ही अचानक आग का गोला उठा और परिवार के लोग लपटों की चपेट में आ गए। लपटों में घिरे हीरालाल और उसके परिजनों ने मदद की गुहार लगाई तो पड़ोसी पहुंचे। लोगों ने किसी तरह आग बुझाने के बाद झुलसे लोगों को बाहर निकाला। सूचान पर जूही थाने की फोर्स भी मौका-ए-वारदात पर पहुंची। झुलसे लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

पुलिस के मुताबिक आग से हीरालाल, उसकी पत्नी शिवकुमारी, बेटियां, मनीषा, राधा, वंदना, उमा और बेटा मनीष झुलस गए। सभी का अस्पताल में इलाज चल रहा है। SP (South) दीपक भूकर का कहना है कि आरोपी की तलाश में पुलिस की चार टीमें लगातार दबिश दे रही हैं। जल्द ही उसे Arrest कर लिया जाएगा।


 -Kanpur की Barra Police को मिली बड़ी सफलता

-सचान चौराहे के पास से दोनों शातिरों को पुलिस ने पकड़ा 

-5.50 लाख रुपए के जाली स्टांप और टिकट बरामद

-लंबे समय से फर्जी स्टांप की बिक्री कर सरकार को लगा रहे थे चूना


 

Yogesh Tripathi

लंबे समय से जाली (Fake) स्टांफ और नोटरी के टिकटों की बिक्री कर सरकार के राजस्व को चूना लगाने वाले शातिर गिरोह का पुलिस ने भंडाफोड़ कर दो लोगों को Arrest कर लिया। पुलिस के मुताबिक दोनों स्टांप विक्रेता हैं। कब्जे से पुलिस ने करीब 5.50 लाख रुपए के जाली स्टांप और नोटरी टिकट भी बरामद किए हैं। पुलिस मोबाइल कॉल डिलेटल (CDR) के जरिए गिरोह से ताल्लुक रखने वाले अन्य स्टांप विक्रेताओं के बारे में छानबीन कर रही है।


 

SSP/DIG ड़ॉक्टर प्रीतिंदर सिंह ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि जरिए मुखबिर Kanpur में लंबे समय से Fake स्टांप और नोटरी के टिकटों की बड़े पैमाने पर बिक्री होने की सूचनाएं मिल रही थीं। मुखबिर की सूचना पर बर्रा पुलिस ने सचान चौराहे के पास कर्नलगंज निवासी मोहम्मद शीजान और प्रयागराज के कैंट थाना एरिया निवासी रंजीत कुमार रावत को दबोच लिया। तलाशी में दोनों के पास से करीब साढ़े पांच लाख रुपए के जाली स्टांप और नोटरी टिकट बरामद हुए। 

थाने लाकर दोनों से पुलिस की टीम ने पूछताछ Start की। DIG डॉक्टर प्रीतिंदर सिंह के मुताबिक दोनों ने पुलिस को बताया कि गिरोह भागलपुर, कोलकाता और पटना से प्रयोग किए गए स्टांप खरीदते हैं। इसके बाद ब्लीचिंग के जरिए लिखे गए मैटर को साफ कर देते हैं। स्टांप जितना पुराना होता है, उतने ही मंहगे दाम पर बिकता है। गिरोह के लोग कानपुर के साथ-साथ प्रयागराज समेत कई जनपदों में जाली स्टांप की बिक्री करते हैं। जाली स्टांप के जरिए फर्जी रजिस्ट्री, इकरारनामा, मुख्तारनामा, वसीयतनामा, शपथ पत्र आदि बनवाए जाते हैं। पुलिस का कहना है कि दोनों के पास स्टांप बिक्री का लाइसेंस भी है।