• 13 अप्रैल को मेरठ में गिरफ्तार किए गए थे दोनों गो-तस्कर भाई
  • बी-वारंट के जरिए असम पुलिस दोनों को कोकराझार लेकर गई थी
  • पुलिस कस्टडी से भाग निकले थे दोनों गो-तस्कर भाई
  • सर्च ऑपरेशन के दौरान पुलिस से मुठभेड़ में चलीं गोलियां

असम पुलिस के हाथों एनकाउंटर में मारे गए अकबर बंजारा और सलमान (लाल घेरे में) (फोटो साभार गूगल)

Yogesh Tripathi

 

कस्टडी से भाग रहे Uttar Pradesh के खूंखार गो-तस्कर भाइयों अकबर बंजारा और सलमान को असम पुलिस ने Encounter में ढेर कर दिया। मुठभेड़ के दौरान चार पुलिस कर्मी भी घायल हो गए। उन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। असम पुलिस का दावा है कि दोनों गो-तस्कर बुलेट प्रूफ जैकेट पहनकर भागे थे। Uttar Pradesh स्थित मेरठ के फलावदा कस्बा निवासी अकबर बंजारा पर 2 लाख का इनाम घोषित था। 13 अप्रैल को मेरठ पुलिस ने अकबर बंजारा, उसके भाई सलमान समेत तीन लोगों को Arrest किया था। 14 अप्रैल को असम पुलिस उन्हें बी-वारंट पर असम के कोकराझार ले गई थी। 

बंजारा और सलमान के शरीर पर बुलेट प्रूफ जैकेट भी पुलिस को मिली।

पुलिस ने तीनों को असम कोर्ट में पेश किया था। Court ने तीनों की 7 दिन की PCR रिमांड पुलिस को दी थी। असम पुलिस का कहना है कि मंगलवार को रिमांड अवधि के बीच अकबर बंजारा और सलमान कस्टडी से फरार हो गए। पुलिस ने सर्च ऑपरेशन चलाया। कोकराझार में हुए मुठभेड़ में दोनों पशु तस्कर मार दिए गए हैं। मेरठ पुलिस के सीनियर अधिकारियों ने दोनों तस्करों के मारे जाने की पुष्टि की गई।

बांग्लादेश तक फैला था बंजारा का साम्राज्य

अकबर बंजारा की तूती Uttar Pradesh के साथ-साथ देश के कई प्रांतों में बोलती थी। उसे North East का डॉन कहा जाता था। बंजारा ने अपने अवैध कारोबार का साम्राज्यअसम, मेघालय, वेस्ट बंगाल, मिजोरम आदि प्रांतों तक फैला रक्खा था। उसके गुर्गे बांग्लादेश तक गोवंश को एक बंद बॉडी के ट्रक में पहुंचाते थे। इतना ही नहीं अकबर बंजारा और सलमान ने गोमांस की सप्लाई कर मेरठ, बिजनौर और आस-पास के जनपदों में करीब 300 करोड़ रुपए से अधिक की संपत्ति जुटा रक्खी है।

ये फोटो 13 अप्रैल की है, जब मेरठ पुलिस ने बंजारा और सलमान को Arrest किया था।

पुलिस गैंगस्टर की कार्रवाई के तहत संपत्ति जब्त करने की तैयारी में जुटी थी। इनकम टैक्स विभाग को जिला प्रशासन ने कुछ समय पहले पत्र भी लिखा था। बंजारा के गिरोह में 150 से अधिक सदस्य हैं।

Next
This is the most recent post.
Previous
पुरानी पोस्ट
Axact

Axact

Vestibulum bibendum felis sit amet dolor auctor molestie. In dignissim eget nibh id dapibus. Fusce et suscipit orci. Aliquam sit amet urna lorem. Duis eu imperdiet nunc, non imperdiet libero.

Post A Comment:

0 comments: