दिसंबर 2020

 -Kanpur के Naubasta एरिया स्थित बंबा के पास Accident

- बाइक से सब्जी लेने के लिए निकले थे योगेंद्र कुमार

- मौत की खबर घर पहुंची तो परिवार में छा गया मातम


Kanpur के South City स्थित नौबस्ता थाना क्षेत्र में "यमदूत" बन चुके ट्रक ने मंडे की सुबह एक और जिंदगी को पहियों के नीचे रौंद दिया। सब्जी लेकर घर जा रहे सीनियर सिटीजन की बाइक में तेज रफ्तार ट्रक ने टक्कर मार दी। स्थानीय लोग लहूलुहान हालत में बुजुर्ग को पास के अस्पताल ले गए। जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। कंट्रोल की सूचना पर पहुंची नौबस्ता थाने की फोर्स ने बाइक में मिले कागजातों के आधार पर शिनाख्त कर सूचना घर पर दी तो परिवार में कोहराम मच गया। 

Naubasta के आवास विकास (हंसपुरम) निवासी योगेंद्र कुमार टेलीफोन विभाग के रिटायर्ड कर्मचारी थे। परिजनों के मुताबिक मंडे की सुबह वह बाइक से सब्जी लेने के लिए बंबा स्थित मंडी पहुंचे। सब्जी खरीदने के बाद वह घर के लिए चले। थोड़ी दूरी पर तेज रफ्तार ट्रक ने उनकी बाइक में टक्कर मार दी। टक्कर लगते ही योगेंद्र कुमार बाइक से उछलकर दूर जा गिरे। Accident के बाद ड्राइवर ट्रक लेकर फरार हो गया। राहगीरों और स्थानीय लोगों ने पास के एक नर्सिगहोम ले गए लेकिन चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। 

 

 

- 15 दिन पहले 8 /12/2020 को हुई थी Madhya Pradesh निवासिनी आरजू गुप्ता की शादी

- PostMortem Report में  Doctor's ने "मौत की मिस्ट्री" से उठाया "पर्दा" 

- Kanpur की Naubasta Police ने ससुरालीजनों को हिरासत में लिया 


Yogesh Tripathi


Kanpur के South City स्थित नौबस्ता थाना एरिया के केशवनगर में इंजीनियर बहू आरजू गुप्ता (26) की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। मौका-ए-वारदात पर पहुंची नौबस्ता पुलिस ने घटना को संदिग्ध मान युवती के शव को कब्जे में लेकर Postmortem के लिए भेजा। Postmortem Report के मुताबिक युवती की मुंह दबाकर हत्या की गई। इसके बाद पुलिस ने ससुरालीजनों को हिरासत में ले लिया। 

Madhya Pradesh के शहडोल जनपद निवासी नीरज कटारे ईंट-भट्ठा कारोबारी हैं। उनकी इकलौती बेटी आरजू कटारे पेशे से इंजीनियर थी। नीरज ने 8 दिसंबर 2020 को आरजू की शादी Kanpur के नौबस्ता स्थित केशव नगर निवासी आरसी गुप्ता के बेटे अमनदीप से की थी। अमनदीप भी बेंगलुरू की एक कंपनी में इंजीनियर है।

ससुर आरसी गुप्ता लोको पॉयलट हैं। परिवार में सास पिंकी और एक ननद है। मायके पक्ष के मुताबिक शुक्रवार को ससुरालीजनों ने आरजू के बाथरूम में गिरने की खबर दी। इसके बाद वह अपने दोनों बेटों अमन, अनंत व कई रिश्तेदारों के साथ कानपुर के लिए रवाना हुए। यहां पहुंचने पर पता चला कि आरजू की मौत हो चुकी है। आरजू के शरीर पर गिरने की वजह से कोई जाहिरा चोट के निशान नहीं मिलने पर घटना शुरु से ही संदिग्द प्रतीत होने लगी थी।

खबर मिलते ही नौबस्ता इंस्पेक्टर सतीश कुमार सिंह भी फोर्स के साथ मौका-ए-वारदात पर पहुंच गए। प्रारंभिक छानबीन में घटना संदिग्ध प्रतीत होने पर इंस्पेक्टर ने आरजू के शव को कब्जे में लेकर Postmortem House भेजवाया। पोस्टमार्टम करने वाले चिकित्सकों के मुताबिक आरजू की मौत दम घुटने की वजह से हुई है। उसकी मुंह दबाकर हत्या की गई।

Postmortem Report में मौत की मिस्ट्री से "पर्दा" उठते ही नौबस्ता पुलिस ने ससुरालीजनों को हिरासत में ले लिया। SHO ने बताया कि अभी तक मायके पक्ष की तरफ से कोई तहरीर नहीं मिली है। तहरीर मिलने के बाद FIR रजिस्टर्ड कर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। 




 

 

 -Kanpur के बिधनू थाना एरिया में दिल दहला देने वाली घटना से कोहराम 

- 24 घंटा पहले ही ससुराल से बिधनू स्थित मायके आई थी युवती 

-10 महीना पहले परिजनों ने Kanpur Dehat के शिवली में की थी शादी 


Kanpur के बिधनू थाना एरिया स्थित रौतारा गांव में मायके आई अनीता (22) ने खुदकुशी कर ली। उसका शव फांसी के फंदे से लटकता मिला तो परिवार में कोहराम मच गया। मौका-ए-वारदात पर पहुंची Kanpur Police ने काफी देर तक छानबीन की। पिता फूल कुमार का कहना है कि बेटी मानसिक रूप से बीमार थी। गुरुवार को परिवारीजन उसे ससुराल से लेकर आए थे। 

बकौल फूल कुमार 20 फरवरी 2020 को उन्होंने बेटी अनीता का विवाह Kanpur Dehat के शिवली स्थित नहरीबरी गांव निवासी शैलेंद्र से की थी। 9 दिसंबर को अनीता ने बेटी को जन्म दिया। बच्चे को जन्म देने के बाद से वह काफी बीमारी हो गई। गुरुवार को परिवारीजन अनीता को ससुराल से मायके ले आए।

शुक्रवार शाम को अनीता के पिता खेत पर गए थे। मां शिव देवी परचून की दुकान पर बैठी थीं। मौका पाकर अनीता ने मकान के पहली मंजिल पर पहुंचकर फांसी लगा ली। मौत को गले लगाने से पहले उसने 17 दिन की बेटी को दूध भी पिलाया। काफी देर तक अनीता जब बाहर नहीं निकली तो मां पहुंची। बेटी का शव फंदे से लटकता देख उसकी चीख निकल गई। शोर सुनकर पड़ोसी भी पहुंच गए। 

बिधनू थानेदार पुष्पराज सिंह का कहना है कि पोस्टमार्टम  और तहरीर के आधार पर मुकदमा पंजीकृत कर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। पिता का कहना है कि बेटी मानसिक रूप से बीमार थी। ससुरालीजनों को सूचना दे दी गई है।